Headline

भारतीय कुश्ती संघ पर महिला पहलवानों का गंभीर आरोप, आख़िर सरकार को लेना पड़ा एक्शन

जंतर मंतर पर धरने पर बैठी महिला कुश्ती खिलाड़ियों की मांग है कि महासंघ में बदलाव होना चाहिए और संघ के अध्यक्ष बृज भूषण शरण सिंह के खिलाफ़ कार्रवाई होनी चाहिए।


By Team Mojo, 19 Jan 2023


जंतर मंतर पर भारतीय कुश्ती संघ के ख़िलाफ़ धरने पर बैठी महिला कुश्ती खिलाड़ी विनेश फोगाट ने महासंघ के अध्यक्ष पर उत्पीड़न के गंभीर आरोप लगाए हैं। महिला खिलाड़ियों की मांग है कि भारतीय कुश्ती संघ में आमूलचूल परिवर्तन किए जाएं व अध्यक्ष पर उनके भ्रष्ट आचरणों के लिए कार्रवाई की जाए। खिलाड़ियों का कहना है कि हमारे साथ सही व्यवहार और हमें खेलने के लिए न्यायोचित मौक़े मिलने चाहिए। उनके समर्थन में यहां मौक़े पर महिला पहलवान साक्षी मलिक, पुरुष कुश्ती खिलाड़ी बजरंग पुनिया व अन्य कई पहलवान मौज़ूद रहे।

खेल मंत्रालय ने पहलवानों के आरोपों को गंभीरता से लिया है। मंत्रालय की तरफ से कुश्ती संघ को 72 घंटे में आरोपों के जवाब देने के लिए नोटिस भेजा गया है। मंत्रालय ने आगे कहा कि, “अगर भारतीय कुश्ती संघ अगले 72 घंटों के भीतर जवाब देने में विफल रहता है, तो मंत्रालय राष्ट्रीय खेल विकास संहिता, 2011 के प्रावधानों के अनुसार महासंघ के खिलाफ कार्रवाई शुरू करेगा।” मंत्रालय के अनुसार, “महिला राष्ट्रीय कुश्ती प्रशिक्षण शिविर जो 18 जनवरी, 2023 से लखनऊ में भारतीय खेल प्राधिकरण के राष्ट्रीय उत्कृष्टता केंद्र (एनसीओई) में 41 पहलवानों और 13 प्रशिक्षकों और सहायक कर्मचारियों के साथ शुरू होने वाला था, उसे रद्द कर दिया गया है।”

इस बीच गुरुवार को भाजपा नेता बबीता फोगाट दिल्ली के जंतर-मंतर में प्रदर्शन कर रहे पहलवानों से मिलनी पहुंची। बबीता भी पहले पहलवान रह चुकी हैं, बाद में वह राजनीति में आईं। उन्होंने बताया कि वह सरकार से बात करेंगी और जल्द से जल्द खिलाड़ियों की मांगें पूरी कराने की कोशिश करेंगी। बबीता ने आगे कहा कि वह सबसे पहले खिलाड़ी हैं, उनको भी इसी खेल से पहचान मिली है। बता दें कि बबीता ने पहले भी ट्वीट कर इस मामले में खिलाड़ियों के प्रति समर्थन ज़ाहिर किया था।

जंतर मंतर पर प्रेस कांफ्रेंस के दौरान महिला कुश्ती खिलाड़ी विनेश फोगाट ने संघ पर आरोप लगाते हुए कहा था, “कोच महिलाओं को परेशान करते हैं और महासंघ के चहेते कुछ कोच तो महिला कोचों के साथ भी अभद्रता करते हैं। भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष ने कई लड़कियों का यौन उत्पीड़न किया है।”

फोगाट ने आगे कहा, “महासंघ के अध्यक्ष हमारी निजी ज़िंदगी में भी दखल देते हैं। वे हमारा शोषण कर रहे हैं। जब हम ओलंपिक खेलने जाते हैं तो न हमारे पास फीजियो होता है और न ही कोई कोच। जब हमने इसको लेकर आवाज़ उठाई तो उन्होंने हमें धमकाना शुरू कर दिया।” उन्होंने आरोप लगाया कि, “मुझे उनकी ओर से जान से मारने तक की धमकी मिल चुकी है।”

हालांकि, भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृज भूषण शरण सिंह ने इन आरोपों को सिरे से नकार दिया है। उन्होंने कहा कि हमें इस संबंध में कोई शिकायत नहीं मिली है। सिंह ने प्रेस कांफ्रेंस कर कहा, “किसी भी एथलीट का यौन शोषण नहीं हुआ है। अगर यह सच साबित होता है तो मैं फांसी पर लटकने को तैयार हूं।”

महासंघ के अध्यक्ष ने यह भी दावा किया कि ओलंपिक और विश्व प्रतियोगिताओं में दूसरे राज्य के खिलाड़ियों को भी समान मौक़ा देने के कारण उन पर इस तरह के आरोप लगाए जाए रहे हैं। बृज भूषण सिंह ने कहा कि बजरंग पुनिया और साक्षी मलिक से एक सप्ताह पहले भी मुलाकात हुई थी और उन्होंने कोई शिकायत नहीं की।

सिंह ने बताया कि उन्होंने विनेश फोगाट की भी मुश्क़िल समय में मदद की है। उन्होंने यह भी कहा कि वे इस पूरे मामले में किसी तरह की जांच का सामना करने को तैयार हैं। प्रेस कांफ्रेंस में जब उनसे पूछा गया कि जांच होने तक क्या वे अपने पद से इस्तीफ़ा दे रहे हैं तो उन्होंने इससे इनकार कर दिया।

क्या है खिलाड़ियों के आरोप

विनेश फोगाट 2022 के कॉमन वेल्थ गेम्स में 53 किलोग्राम भार वर्ग में गोल्ड मेडलिस्ट रही हैं। फोगाट ने भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष पर शोषण का आरोप लगाते हुए कहा, “एक दौर ऐसा भी आया जब मानसिक उत्पीड़न के कारण मुझे खुदक़ुशी के विचार आने लगे थे। टोक्यो ओलंपिक में हार के बाद महासंघ अध्यक्ष ने मुझे ‘खोटा सिक्का’ कहा। मैं हर दिन खुदकुशी करने की सोचने लगी थी। हर एथलीट को पता है कि हम पर क्या गुजर रही है।”

उन्होंने आगे कहा कि, “अगर मुझे कुछ हो जाता तो मेरा परिवार क्या करता, कौन लेता इसकी ज़िम्मेदारी?’ फोगाट ने आगे कहा, “अगर हमारे किसी भी खिलाड़ी को कुछ भी होता है तो उसकी ज़िम्मेदारी हमारे फ़ेडरेशन की होगी। हमारा इतना मानसिक उत्पीड़न होता है, और मुझे कहा जाता है कि मैं मानसिक रूप से कमज़ोर हूं। मैं मानसिक रूप से कमज़ोर नहीं हूं, लेकिन मैं कुश्ती को रोज़ जीती हूं; मुझे उसे खेलने से रोका जाता है तो गुस्सा आता है।”
प्रेस वार्ता में यह सब कहते हुए फोगाट भावुक हो गईं और उनकी आंखों से आंसू छलक आए।

बजरंग पुनिया ने कहा, “हम चाहते हैं कि महासंघ में बदलाव हो। भारतीय कुश्ती महासंघ द्वारा पहलवानों को परेशान किया जा रहा है। आज जो लोग संघ का हिस्सा हैं, उन्हें इस खेल के बारे में कुछ नहीं पता है।” उन्होंने आगे कहा कि, “महासंघ के अध्यक्ष की हरक़तों से सभी पहले से वाकिफ़ हैं। वे पहले भी एक खिलाड़ी के साथ खुलेआम मंच पर अभद्रता कर चुके हैं। मेरे पास वह वीडियो है।” उसके बाद से ही सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें संघ के अध्यक्ष बृज भूषण सिंह खिलाड़ी को थप्पड़ मार रहे हैं।

Mojo Story से बातचीत में अपनी भतीजी विनेश फोगाट का समर्थन करते हुए महावीर फोगाट ने आरोप लगाया कि, “भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष और भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह बहुत ही घटिया आदमी है।” उन्होंने सवाल खड़ा किया कि, “आख़िर वह क्यों लखनऊ में महिला प्रशिक्षण शिविर आयोजित करता है?” उन्होंने कहा कि बहुत सारी बातें हैं, मगर डर से कोई नहीं कह पाता है कि उसके बाद सब कुछ खत्म हो जाएगा।

उन्होंने भतीजी विनेश के दावों का पुरजोर समर्थन किया कि बृजभूषण शरण सिंह पहलवानों का यौन शोषण करते रहे हैं, इसके अलावा उन्होंने दावा किया कि वह हरियाणा के पहलवानों को निशाना बनाते रहे हैं।

वहीं, पहलवान गीता फोगाट और बबीता फोगाट ने ट्वीट कर पहलवानों का समर्थन किया है।
गीता ने लिखा “आज बहुत दुख: हुआ यह तस्वीर देखकर कि हमारे देश के गौरव ओलंपिक पदक विजेता खिलाड़ी दिल्ली में जंतर-मंतर पर धरने पर बैठे हैं। ये तानाशाही बंद होनी चाहिए। हम अपने खिलाड़ी साथियो की मांगों का समर्थन करते हैं।”

बबीता फोगाट ने लिखा “कुश्ती के इस मामले में मैं अपने सभी साथी खिलाड़ियो के साथ खड़ी हूं। मैं आप सबको विश्वास दिलाती हूं कि सरकार से हर स्तर पर इस विषय को उठाने का काम करूंगी और खिलाड़ियों के भावनाओं के अनुरूप ही आगे का भविष्य तय होगा।”

कुश्ती खिलाड़ियों के इस प्रदर्शन पर कई राजनेताओं व अन्य जाने-माने लोगों की प्रतिक्रियाएं भी सामने आई हैं। कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने इस मामले को लेकर ट्वीट किया। उन्होंने लिखा “हमारे खिलाड़ी देश की शान हैं। विश्व स्तर पर अपने प्रदर्शन से वे देश का मान बढ़ाते हैं। कुश्ती फेडरेशन व उसके अध्यक्ष पर खिलाड़ियों ने शोषण के गंभीर आरोप लगाए हैं। इन खिलाड़ियों की आवाज सुनी जानी चाहिए। आरोपों की जांच कर उचित कार्रवाई की जानी चाहिए।”

वहीं, दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने प्रदर्शनस्थल पर खिलाड़ियों से मुलाकात करके कहा कि हम मज़बूती से उनके साथ खड़े हैं।

कौन हैं बृज भूषण शरण सिंह

उत्तर प्रदेश के गोण्डा से 1991 में पहली बार सांसद बने बृज भूषण शरण सिंह की गिनती भारतीय जनता पार्टी के दबंग नेताओं में होती है। वे छठी बार सांसद बने हैं। सिंह भारतीय कुश्ती संघ के वर्तमान अध्यक्ष हैं।

बृज भूषण 2008 में भाजपा छोड़ कर मुलायम सिंह की सपा में शामिल हो गए थे, लेकिन 2014 लोक सभा चुनावों के कुछ समय पहले ही उन्होंने भारतीय जनता पार्टी में वापसी की और लगातार दो चुनाव जीत चुके हैं।

सिंह पर अतीत में हत्या, आगज़नी और तोड़-फोड़ करने के भी आरोप लग चुके हैं। कुश्ती खिलाड़ियों के आरोप के बाद सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें बृज भूषण ने पिछले दिनों झारखंड में अंडर-19 नेशनल कुश्ती चैंपियनशिप के दौरान एक रेसलर को मंच पर ही थप्पड़ मार दिया था।